वसा किसे कहते हैं – [प्रकार] – Vasa Kise Kahate Hain

वसा (Fat) किसे कहते हैं | प्रकार – What Is Fat. Type Of Fat In Hindi.

वसा (Fat) किसे कहते हैं | इस के प्रकार कितने होते है | What Is Fat. Type Of Fat In Hindi.

वसा, कार्बोहाइड्रेट्स और प्रोटीन के साथ तीन में से एक विशेष मुख्य न्यूट्रियेंट है, जो शरीर को ज़रूरी ऊर्जा के साथ अन्य Mahatvpurn पदार्थ प्रदान करते हैं। What Is Fat. Type Of Fat In Hindi.

वसा (Fat) क्या होता है|

वसा (Fat), कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन के साथ तीन में से एक विशेष मुख्य न्यूट्रियेंट है। जो sharir को ज़रूरी ऊर्जा के साथ अन्य महत्वपूर्ण पदार्थ प्रदान करते हैं। वसा ऊर्जा देता है, कुछ पोषक तत्वों को अवशोषित करता है। और आपके शरीर के tapman को सही बनाए रखता है।


वसा (fat) के बारे में अन्य विशेष जानकारी

1] सभी कार्यों को सुचारू हेतु आहार में स्वस्थ वसा की मात्रा  होनी avashyak honi chahiye। 

2] स्वस्थ वसा का मतलब अच्छा वसा है। जो शरीर के लिए अच्छा हैं। 

3] अच्छा वसा आपके दिल यानी hriday को सुरक्षित व संतुलित रखता हैं। 

4] आपके शरीर को स्वस्थ रखता है। जबकि खराब वसा रोग के कारण खतरा बढ़ जाता हैं। 

5] खराब वसा आपके दिल को नुकसान पहुंचाता है। लगभग 60-65% मस्तिष्क वसा से बना है।

6] वसा स्त्रोत आपका मोटापा नहीं बढ़ने देते, एवं वजन घटाने एवं मांसपेशियों के निर्माण के लिए स्वस्थ वसा काम करते हैं। 

7] हार्मोन संतुलन के लिए स्वस्थ वसा भी महत्वपूर्ण है। टेस्टोस्टेरोन पुरुष हार्मोन एवं एस्ट्रोजेन महिला हार्मोन है। किन्तु दोनों हॉर्मोन पुरुषों एवं महिलाओं में मौजूद होते है। 

8] शरीर में हार्मोन का असंतुलन पुरुषों एवं महिलाओं दोनों के लिए बहुत स्वास्थ्य संबंधी परेशानी को बढ़ता है। इसके कारण ही वसा की पर्याप्त मात्रा रोज जीवन मे ज़रूरी है।

9] वसा हमारे शरीर को क्रिया-शील बनाए रखने में सहयोग करती है। Vasa शरीर के लिए उपयोगी है, लेकिन इसकी अधिकता मात्रा कभी कभी हानिकारक भी हो सकती है।

10] यह मांस एवं वनस्पति समूह दोनों प्रकार से प्राप्त होती हैं। इससे शरीर को दैनिक कार्यों के लिए शक्ति एवं ऊर्जा आती हैं।

11] इस को शक्तिदायक ईंधन के रूप में भी जाना जाता हैं।

12] एक स्वस्थ व्यक्ति के लिए 100 ग्राम चिकनाई या वसा का प्रयोग करना आवश्यक है।

13] इसे पचाने में शरीर को काफ़ी समय लगता है। 

14] यह शरीर में protin की आवश्यकता को कम करने के लिए आवश्यक है।

15] इस का शरीर में अत्यधिक मात्रा में बढ़ जाना उचित नहीं होता।

16] वसा santulit आहार द्वारा आवश्यक मात्रा में ही शरीर को उपलब्ध कराई जानी चाहिए।

17] यह अधिक मात्रा जानलेवा भी हो सकती है।

18] यह आमाशय की गतिशीलता में कमी ला देती है। इससे भूख कम कर देता है।

19] इससे आमाशय की वृद्धि होती है। 

20] वसा कम हो जाने से रोगों से लड़ने की शक्ति कम हो जाती है। 

21]अत्यधिक वसा सीधे स्रोत से हानिकारक हैं।

22] इसकी संतुलित मात्रा लेना ही लाभदायक हैं।

संबंधित अन्य लेख –

        • प्रोटीन किसे कहते हैं। प्रकार। फायदे। आवश्यक मात्रा

       • वसा किसे कहते हैं। प्रकार। फायदे। आवश्यक मात्रा

       • कार्बोहाइड्रेट्स किसे कहते हैं। प्रकार। फायदे। आवश्यक मात्रा


वसा के कितने प्रकार होते है। Type Of Fat In Hindi

खाद्य पदार्थों के कई प्रकार के वसा प्राप्त की जाती है। इनमें से प्रमुख तीन प्रकार की होती हैं। 

1] असंतृप्त वसा [अच्छा वसा]

2] संतृप्त वसा [खराब वसा]

3] ट्रांसफेट [खराब वसा]

1.असंतृप्त वसा  (अच्छा वसा)

यह दो श्रेणियों में विभाजित है-

a) मोनो-असंतृप्त b) पॉली-असंतृप्त


ऊपर के तीन वसा मे से, संतृप्त वसा को हानिकारक वसा माना जाता है। क्योंकि यह हृदय रोग के जोखिम के लिए ज़िम्मेदार है।खराब vasa मे खराब कोलेस्ट्रॉल होता है, जिसे एलडीएल (कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन) कोलेस्ट्रॉल कहा जाता है|


 उच्च एलडीएल कोलेस्ट्रॉल धमनियों को कठोर करता है| और रक्तचाप बढ़ाता है| और इसलिए यह दिल का दौरा और स्ट्रोक के लिए दरवाजा खुलता है| और इसलिए यह दिल के दोरे और स्ट्रोक के लिए ज़िम्मेदार है|


पॉली-अनसैचुरेटेड और मोनो-असंतृप्त वसा अच्छे वसा या एचडीएल (उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन)कोलेस्ट्रॉल हैं| वे एलडीएल कोलेस्ट्रॉल को धमनियों में स्थिर करते हैं| और आपके hriday रोग के जोखिम को कम करते हैं जब आप उन्हें खराब वसा के स्थान पर लेते हैं| 


2. संतृप्त वसा 

वे कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ाते हैं और हृदय रोग का खतरा बढ़ाते हैं। संतृप्त वसा बढ़ जाती है

संतृप्त वसा के स्त्रोत

1.मांस

2.अंडे का पीला भाग


मक्खन, वनस्पति घी, शुद्ध घी, ताड़ एवं नारियल का तेल संतृप्त वसा के प्रमुख स्रोत हैं| ठोस नजर आने वाले हाइड्रोजिनेटिड वनस्पति घी में ट्रांस फैट एसिड होते हैं। ये भी नुकसानदेह होते हैं।

संबंधित अन्य लेख इन लेख को पड़ना ना भूलें!:

       • प्रोटीन किसे कहते हैं। प्रकार। फायदे। आवश्यक मात्रा

       • वसा किसे कहते हैं। प्रकार। फायदे। आवश्यक मात्रा

       • कार्बोहाइड्रेट्स किसे कहते हैं। प्रकार। फायदे। आवश्यक मात्रा

इस लेख में मैंने जो आपको वसा (Fat) किसे कहते हैं क्या प्रकार कितने होते है सभी जानकारी आपको यदि अच्छी लगी हो तो कृपया अपने दोस्तो को शेयर करे एवं अपने कमेंट करके अवश्य जाएं! धन्यवाद्!


Comments