संज्ञा किसे कहते हैं परिभाषा उदाहरण सहित 5 भेद 2021

संज्ञा किसे कहा जाता हैं/ Sangya kise kahate hain

Sangya Ki paribhasha: किसी व्यक्ति , वस्तु ( टेबल , कुर्सी ) , स्थान या भाव के नाम को संज्ञा (kahate hain) कहते हैं। जैसे — अंगूर , देश ,चाँवल , सोना , कोमलता , आम , भैंस आदि।

संज्ञा किसे कहते हैं ट्रिक से - संज्ञा की परिभाषा - संज्ञा के भेद - What Is Noun In Hindi. Definition & Types

संज्ञा (Noun) किसे कहते हैं।  की परिभाषा (definition) के भेद 

संज्ञा किसे कहते हैं।  की परिभाषा। के भेद / sangya kise kahate hain

संज्ञा किसे कहते हैं? परिभाषा – What Is Noun In Hindi 

संज्ञा (Noun) किसे कहते हैं : किसी व्यक्ति, वस्तु, स्थान या भाव के नाम कोसंज्ञा कहते हैं।...
उदाहरण- श्याम (व्यक्ति), टेबल (वस्तु), भोपाल (स्थान), व्यथा (भाव) इत्यादि।...
इसके तहत जातिवाचक, व्यक्तिवाचक संंज्ञा, भाववाचक संज्ञा, द्रव्यवाचक, समूहवाचक संज्ञा जैसे पांच प्रकार के भेदों को इसमें समाहित नीचे क्रम दिया गया है।

Sangya की Paribhasha को, सिर्फ पढ़ लेने सेे, इसके बारे में संपूर्ण जानकारी प्राप्त नहीं हो पाती है।
 इसलिए इस लेख में हम आगे आपके लिए, इससे सबंधित अन्य जैसे इसके भेद, प्रकार संज्ञा किसे कहते हैं क्या होती है
 सभी भेदों को विस्तार से नीचे समझाएंगे! तो चलिए लेख प्रारंभ करें। what is noun in hindi

 तो आपको अब sangya और इसकी परिभाषा से आप अच्छी तरह परिचित हो गए होंगे।

हिंदी भाषा या व्याकरण की साइंस में, संज्ञा (Noun) एक विशाल और बड़ा, मुक्त शाब्दिक वर्ग का सदस्य के तहत है,
 जिसके सदस्य वाक्यांश के कर्ता के प्रमुख शब्द, पूर्वसर्ग के कर्म या क्रिया के कर्म  के तरह उपस्थित हो सकते हैं कहते हैं

शाब्दिक वर्गों को इस संदर्भ में परिभाषा दी जाती हैं कि उनके सदस्य अभिव्यक्तियों के अन्य रूपों के साथ किस प्रकार संयोजित होते हैं।  
संज्ञा के लिए भाषा के तहत वाक्यात्मक नियम अलग अलग प्रकार के होते हैं। अंग्रेज़ी भाषा के तहत, संज्ञा को उन शब्दों के रूप में परिभाषा दी जाती है,
 जो उपपद एवं गुणवाचक विशेषणों के साथ होते हैं और संज्ञा किसी भी वाक्यांश के प्रमुख शीर्ष के रूप में वर्क कर सकते हैं।

पारंपरिक अंग्रेज़ी व्याकरण के तहत संज्ञा, 8 शब्द भेदों में से एक प्रमुख है।


यह हिंदी व्याकरण का एक अच्छा और पहला टॉपिक है. और जो भी व्यक्ति इसके बारे में इंटरनेट पर जानकारी के लिए खोजते है.
 वो हमेशा ही sangya kise kahate hain. क्या है? इसके भेद और प्रकार इत्यादि तरीके लिखकर ही सर्च करते है चलो अब इसके बारे में लेख को प्रारंभ करते है



संज्ञा के भेद | संज्ञा के प्रकार – Types Of Noun In Hindi


संज्ञा के पांच भेद/प्रकार होते हैं दोस्तो sangya के मुख्य रूप से पाँच भेद या प्रकार हैं जो कि नीचे क्रमिक रुप से बताए हुए हैंं.
  • 1. जातिवाचक संज्ञा [Jativachak Sangya]
  • 2. व्यक्तिवाचक संज्ञा [Vyakti Vachak Sangya]
  • 3.भाववाचक संज्ञा [Bhav Vachak Sangya]
  • 4. द्रव्यवाचक संज्ञा [Dravya Vachak Sangya]
  • 5. समूहवाचक संज्ञा [Samuh Vachak Sangya]
आइए इन सभी भेदों को विस्तार से एवं उनके उदाहरण के साथ पढ़ें जिससे इनसे संबंधित कोई भी प्रश्न आपके मन में ना रहें! और इन सभी भेदों के व्याख्या के बाद Sangya से संबंधित प्रश्नों को नीचे बताया जाएगा उन्हें भी अवश्य पढ़ें।।

Noun In Hindi | Definition | Type/संज्ञा के पांच भेद/प्रकार होते हैं

1] जातिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं? 

Jati vachak sangya kise kahate hain: उस को कहते हैं, जिसका नाम लेने से उस व्यक्ति या पदार्थ की जाति का बोध होता है।
यथा:- गधा, फल, मानव, किसी धर्म की जाति जैसे राजपूत इत्यादि।
इन उदाहरण के वाक्य जैसे 
   1. गधा सामान लेकर जाता हैं।
   2. यह फल आम का हैं।
   3. मानव के अंदर सोचने की शक्ति होती है।
   4. वह राजपूत जाति का हैं।
संज्ञा

2] व्यक्तिवाचक संज्ञा किसे कहते हैं?

Vyakti vachak sangya kise kahate hain: जिन शब्दों से किसी भी खास व्यक्ति, स्थान अथवा वस्तु का बोध होता हो, उसे व्यक्तिवाचक संज्ञा कहेंगे।
जैसे गोरखपुर, मुंबई, भारत, रामायण, अमेरिका इत्यादि।
इन उदाहरण के वाक्य जैसे
   1. गोरखपुर में बहुत सारी ट्रेन प्रारंभ होती है।
   2. मुंबई को भारत का प्रवेश द्वार कहते हैं।
   3. भारत एक देश है।
   4. रामायण वाल्मीकि द्वारा रचा गया है।
   5. अमेरिका का राष्ट्रपति कौन हैं।

    • प्राणीवाचक और अप्राणिवाचक संज्ञा शब्द किसे कहते हैं?

3] भाववाचक संज्ञा किसे कहते हैं?

Bhav vachak sangya kise kahate hain: जिस संज्ञा शब्द से पदार्थों की अवस्था, गुण-दोष, भाव या दशा, धर्म आदि का बोध होता हो, वह भाववाचक संज्ञा हैं।
जैसे: बचपन, मोटापा, बुढ़ापा, मिठास, चढ़ाई, थकावट आदि। 
इन उदाहरण के वाक्य
   1. बचपन में कृष्ण में माखन खाया।
   2. मोटापा अच्छा नहीं होता हैं।
   3. श्याम की माताजी का बुढ़ापा आने वाला है।
   4. वाणी में मिठास होनी चाहिए।
   5. गिट्टी ऊपर चढ़ाई
   6. ज्यादा काम से थकावट हो गई।


4] द्रव्यवाचक संज्ञा किसे कहते हैं?

Dravya vachak sangya kise kahate hain: किसी संज्ञा शब्द से किसी द्रव्य (पदार्थ) का बोध हो रहा हो, तो द्रव्यवाचक संज्ञा कहेंगे।
जैसे: घी, पानी, लोहा, तेल, दाल इत्यादि।
इन उदाहरण के वाक्य
   1. घी में वसा होता है।
   2. पानी एक तरल पदार्थ हैं।
   3. लोहा जंग के कारण वजनदार हो गया है।
   4. यह सरसों का तेल हैं।
   5. दाल में प्रोटीन होता हैं। 

5] समूहवाचक संज्ञा किसे कहते हैं? 

Samuh vachak sangya kise kahate hain: किसी संज्ञा शब्द से व्यक्ति या वस्तु के समूह का बोध हो, तो उसे समूहवाचक संज्ञा कहेंगे।
जैसे: पुलिस, सेना, परिवार, कक्षा, भीड़, इत्यादि।
इन सभी के वाक्य
   1. पुलिस कोरोना काल में बहुत मदद कर रही है।
   2. देश की रक्षा सेना बहुत अच्छे से करती हैं।
   3. तुम्हारे परिवार में कितने पुरुष है।
   4. राहुल कक्षा 9th में हैं।
   5. भीड़ भाड़ से दूर रहकर हम कॉरोना से बच सकते हैं।



ये भी पढ़ें: 



हमारे लेख को पूरा पड़ने के लिए धन्यवाद! आपसे आग्रह किया जाता है कि आप अपने विचार को कमेंट के माध्यम से हम तक पहुंचाए एवं इस लेख जो कि संज्ञा किसे कहते हैं। (Noun kise kahate hain) संज्ञा की परिभाषा और संज्ञा के भेद था से संबंधित अन्य जानकारी पाने के लिए आप हमें फेसबुक ट्विटर इंस्टाग्राम पर फॉलो करें।

Comments