What Is Lever In Hindi | उत्तोलक किसे कहते हैं | क्या होता है | प्रकार, सिद्धांत, उदाहरण सहित

उत्तोलक (lever) किसे कहते हैं? क्या होता है? प्रकार, सिद्धांत, उदाहरण सहित (Uttolak In Hindi)

Lever Meaning In Hindi (means) - उत्तोलक

उत्तोलक क्या है. किसे कहते हैं? (What Is Lever In Hindi)

उत्तोलक "एक सीधी या तेरी दृढ़ छेड़ होती है जो कि निश्चित Points के चारों ओर स्वतंत्रता पूर्वक घूम सकती है उसे उत्तोलक कहते हैं. अर्थात् वह सीधी या टेडी छड़ जो किसी नियत बिन्दु पर स्वतंत्र अवस्था में उसके चारो ओर घूम सके वह Lever है."

उत्तोलक की परिभाषा (Definition of lever in hindi)

वह Machine है जिसकी सहायता से एक Point पर कम बल लगाकर किसी दूसरे बिन्दु पर अधिक बल (Force) प्राप्त किया जा सकता है| सौ किलोग्राम का भार Uttolak की सहायता से एक किग्रा भार (बल) से उठाते हुए| उदाहरण: सरोता, कैची, चिमटा आदि

    •सरौता, उत्तोलक के सिद्धान्त पर कार्य करता है.


उत्तोलक का सिद्धांत (Lever Theory In Hindi)

सेराक्यूस के आर्किमिडीज़ (यूनानी: 287 ई.पू. - 212 ई.पू.), एक यूनानी गणितज्ञ, फाइजिक्स, अभियंता, आविष्कारक और खगोल विज्ञानी रहे थे| हालांकि उनके जीवन के कुछ ही विवरण ज्ञात हैं, उन्हें शास्त्रीय पुरातनता का एक अग्रणी वैज्ञानिक माना जाता है| भौतिक विज्ञान में उन्होनें जलस्थैतिकी, सांख्यिकी तथा Uttolak के सिद्धांत की व्याख्या की नीव रखी थी| आर्किमिडीज़ को नवीनीकृत मशीनों को Design करने का श्रेय दिया जाता है| इनमें सीज इंजन तथा स्क्रू पम्प शामिल हैं| आधुनिक प्रयोगों से आर्किमिडीज़ के इन दावों का Parikshan किया गया है| कि दर्पणों की एक पंक्ति का Use करते हुए बड़े आक्रमणकारी जहाजों को आग लगाई जा सकती हैं|

यह भी पढ़ें गति किसे कहते हैं? गति के प्रकार

उत्तोलक में मुख्य तीन बिंदु होते हैं. (Lever Main 3 Points In Hindi)

1. आलम्ब(Fulcrum),

2. आयास(Effort),

3. भार (Load)|

1. आलम्ब(Fulcrum) : जिस निश्चित Point के चारों ओर कुत्तों लकी छेड़ स्वतंत्रता पूर्वक घूम सकती है, आलम्ब (Fulcrum) कहते हैं.

2. आयास(effort) : उत्तोलक को Use में लाने के लिए उस पर जो बल (Force) लगाया जाता है, आयास Kahate Hain|

3. भार (load) : Uttolak के द्वारा जो घर या बोझ उठा जाता है. Ya रुकावट हटाया जाता है, उसे भार कहते हैं|

उत्तोलक (lever) किसे कहते हैं? क्या होता है? प्रकार, सिद्धांत, उदाहरण सहित (Uttolak In Hindi)

उत्तोलक के प्रकार (Type Of Lever In Hindi)

उत्तोलक तीन प्रकार के होते है. जिनके नाम उदाहरण के नीचे बताया गया हैं.

1. प्रथम श्रेणी का उत्तोलक : इस प्रकार के Uttolak में आलंब F, आयस E तथा भार w के बीच में स्थित होता हैं.

example: कैची ,फिलास,किल उखाड़ने की मशीन, सायकिल का ब्रेक, हैंड पंप आदि.


2. द्वितीय प्रकार के उत्तोलक : इस प्रकार के Lever में यांत्रिक लाभ सदैव एक से अधिक होता है, Example: सरोता, नीबू निचोड़ने की मशीन ,एक पहिए की कचरा ढेर उठाने के गाड़ी आदि|


3. तृतीय प्रकार का उत्तोलक : इस प्रकार के यांत्रिक लाभ सदैव एक से कम होता है उदाहरण चिमटा, मनुष्य का हाथ आदि.

इस पोस्ट में Uttolak मिंस के बारे में हिंदी में की पूरी जानकारी दी है यदि पोस्ट अच्छी लगी हो तो कृपया कमेंट करे और दोस्तो को भी शेयर करें|

     • विज्ञान किसे कहते हैं सभी शाखाएं एक साथ वर्णित

आप सभी के द्वारा ऎसे उत्तोलक से संबंधित प्रश्न किया जाते है: FAQs

1. उत्तोलक का सिद्धांत किसने दिया.

Ans: सेराक्यूस के आर्किमिडीज़ (यूनानी: 287 ई.पू. - 212 ई.पू.), एक यूनानी गणितज्ञ, भौतिक विज्ञानी, अभियंता, आविष्कारक और खगोल विज्ञानी रहे थे| हालांकि उनके जीवन के कुछ ही विवरण ज्ञात हैं, उन्हें शास्त्रीय पुरातनता का एक अग्रणी वैज्ञानिक माना जाता है. फिजिक्स में उन्होनें जलस्थैतिकी, सांख्यिकी तथा लीवर के सिद्धांत की व्याख्या की नीव रखी थी. आर्किमिडीज़ को नवीनीकृत मशीनों को डिजाइन करने का श्रेय दिया जाता है. इनमें सीज Engine तथा स्क्रू पम्प शामिल हैं. आधुनिक प्रयोगों से आर्किमिडीज़ के इन दावों का परीक्षण किया गया है. कि दर्पणों की एक पंक्ति का उपयोग करते हुए बड़े आक्रमणकारी जहाजों को आग लगाई जा सकती हैं.

2. उत्तोलक के प्रकार उदाहरण सहित.

उत्तर: उत्तोलक तीन प्रकार के होने है जिनके बारे में मैंने आपको पहले बताया है 

3. उत्तोलक के सिद्धांत का सूत्र.

उत्तर: भार x भुजा भार= आयास x आयस भुजा

W x d = E x D

4. उत्तोलक का सिद्धांत 

उत्तर: "संतुलन की अवस्था में भार तथा भार भुजा का गुणांक, अायास Aur आयास भुजा के गुणांक सामान होते हैं." यही उत्तोलक का सिद्धांत है.

5. सीढ़ी किस प्रकार का उत्तोलक है.

उत्तर:   ऊपर दिया हैं

6. तृतीय श्रेणी के उत्तोलक का उदाहरण.

उत्तर: ऊपर दिया हैं

7. कलम किस प्रकार का उत्तोलक है.

उत्तर: 

8. प्रथम प्रकार के उत्तोलक के उदाहरण.

उत्तर: ऊपर दिया हैं


उत्तोलक से संबंधित

1] भौतिकी, यांत्रिकी ,यांत्रिक प्रौद्योगिकी और विज्ञान की भाषा में Lever को एक सरल यंत्र कहा जाता है|

2] Uttolak कई रूपों में Vidhyaman होते हैं.

3] अपने सरलतम रूप में यह एक लम्बी छड़ हो सकती है. 

4] जिसके एक सिरे के पास एक अवलम्ब (Fulcrum) लगाकर किसी वजनदार वस्तु को उठाने के काम में लिया जा सकता है.

5] यह, बलाघूर्ण के सिद्धान्त (theory of moments) पर वर्क करता है. 

6] आम जीवन में उत्तोलक का बहुत ज्यादा महत्व है| और हर जगह इसे देखा जा सकता है.

7] सी-सा झूला, एक उत्तोलक (लीवर) है.

     • विज्ञान किसे कहते हैं सभी शाखाएं एक साथ वर्णित

लेख ने बताई जानकारी से संतुष्ट हो तो कृपया कमेंट करके बताए और अन्य दोस्तो तक शेयर करके पहुंचाए. ऐसी ही अन्य पोस्ट को पड़ने के लिए नीचे देखे या मुख्य पृष्ठ पर जाएं! धन्यवाद्!


Comments