अंजीर खाने के फायदे?

अंजीर खाने के फायदे जानें?

हेलो दोस्तो कैसे हो आप आशा करता हूं सकुशल होंगे तो आज के इस लेख में मैंने अंजीर खाने के फायदे और नुकसान के साथ साथ इसके बारे में अन्य जानकारी जैसे वैज्ञानिक नाम, इसके अंदर उपस्थित सभी घटकों के प्रतिशत एवं अंजीर कितने प्रकार के होते है से संबंधित हर सूचना को लेख में बताया गया हैं।

Teble Of Content
               • मौजूद पौषक तत्व
               • अंजीर के प्रकार
               • अंजीर के फायदे
               • अंजीर के नुकसान

अंजीर (Anjir In Hindi)

अंजीर खाने के फायदे और नुकसान
अंजीर के फायदे

      अंजीर जिसे अंग्रेजी में नाम फ़िग कहते हैं इसका  वानस्पतिक नाम: "फ़िकस कैरिका", प्रजाति फ़िकस, जाति कैरिका, कुल मोरेसी)

       एक वृक्ष का फल है, जो पक जाने पर गिर जाने लगता है। पके फल को लोग खाते हैं। सुखाया फल मार्केट में बिकता है। सूखे फल को छोटे छोटे टुकड़े करके या पीसकर दूध में मिक्स करके चीनी मिलाकर खाया जाता हैं।

       इसका स्वादिष्ट जैम (फल के टुकड़ों का मुरब्बा) भी बनाया जाता है। इसके सूखे-फल में चीनी की उपस्थित मात्रा लगभग 62% तथा ताजे पकेफल में 22% होती है। अंजीर Calcium तथा Vitamin A और B काफी मात्रा में पाए जाते हैं। इसके खाने से बध्दकोष्ठता यानी कब्जियत से छुटकारा मिलता हैं।


अंजीर के अंदर मौजूद पौष्टिक तत्त्व  (Nutritive elements inside fig in hindi)

• Sugar

• Dietary fiber

• Vitamin C

• Vitamin E

• Vit K — 14.96%

• Vit- B5 — 8.88%

• Calcium — 15.89%

• Iron — 14.87%

• Manganese — 23.66%

• Magnesium — 18.89%

• Phosphorus —13.8%

       • गर्म पानी पीने के फायदे

• अंजीर Calcium, रेशों व Vitamin A, B, C से भरपूर होता है। 

•एक अंजीर फल में लगभग 30 कैलरी होती हैं। 

•एक सूखे अंजीर में कैलरी 49, 

•Protein 0.579 ग्राम, 

•Carbon 12.42 ग्राम, 

•Fiber 2.32 ग्राम, 

•कुल Fat 0.222 ग्राम, 

•सैचुरेटेड फैट 0.0445 ग्राम, 

•पॉलीअनसैचुरेटेड फैट 0.106, 

•मोनोसैचुरेटेड फैट 0.049  ग्राम, 

•Sodium 2 मिग्रा और Vitamin ए, बी, सी युक्त होता है।

•इसमें 83% चीनी होने के कारण यह विश्व का सबसे मीठा Fruit है। 

•Diabetes के रोगियों को दूसरे फलों की तुलना में अंजीर का सेवन खासतौर से Beneficial होता है। 

•अंजीर Potassium का अच्छा स्रोत है, जो Blood pressure and blood sugar को नियंत्रित करने में मदद करता है। 

•अंजीर में स्थित रेशे वजन को संतुलित रखते हुए मोटापे को कम रखते हैं साथ ही स्तन Cancer and Menopause की तकलीफ़ों को दूर करने में Helpful पाए गए हैं। 

•सूखे अंजीर में फेनोल, ओमेगा-3, ओमेगा-6 होता है। 

•यह फैटी एसिड कोरोनरी हार्ट डिजीज के खतरे को कम करने में help करता है। 

•अंजीर में Calcium बहुत होता है, जो अस्थियों को मजबूत करने में help होता है। 

•अंजीर में Potassium ज्यादा होता है और Sodium कम होता है इसलिए यह high blood pressure की समस्या से भी बचाता है।

•अंजीर के सेवन करने से diabetes, सर्दी-जुकाम, दमा और अपच जैसी तमाम व्याधियों में भी Benefit देखा गया है।


अंजीर के प्रकार (Types of figs in hindi)

अंजीर के बहुत तरह के प्रकार है, किन्तु मुख्य तो 4 प्रकार हैं जो नीचे दिए हैं।

     1] साधारण अंजीर

     2] कैप्री फिग, (जो सबसे प्राचीन है और जिससे अन्य अंजीरों की उत्पत्ति हुई है)

     3] सफेद सैनपेद्रू

     4] स्माइर्ना,

India में मार्सेलीज़, Black ischia, Poona, Bangalore तथा ब्राउन टर्की नाम की किस्में ज्यादातर प्रसिद्ध हैं।


अंजीर खाने के फायदे (Benefits of figs in hindi)

• हृदय से related बीमारियाँ Triglyceride के बढ़ जाने से होती है। अंजीर में इसे कम करने का गुण होता है। इसके कम होने की वजह से heart सही काम करता रहता है। अंजीर में Antioxidant होता है जो फ्री रेडिकल्स नही बनने देता जिससे Heart healthy रहता है। 

• इसमें Antioxidant होता है जो फ्री radicals समाप्त कर देता है और वो कई बीमारियों से छुटकारा मिलता है। 

• इसे नियमित खाने से मौसम के चलते होने वाली गले की खराश नही होती है। और अगर खराश हो गई है तो अंजीर खाने से profit होगा। इसे खाने से Tonsils ठीक हो जाते है।

• अंजीर खाए। इसमें Fiber होता है जिसके सेवन से भूख कम लगती है। और Metabolism भी बढ़ जाता है। इस वजह से वजन को कम किया जा सकता है। 

• अंजीर Regular रूप से खाया जाए Digestive System मजबूत होता है। आप अंजीर को रात को भिगो दे। और अगले दिन इसे खा ले। आपको बहुत फायदा होगा। आप चाहे तो इसे शहद के साथ मिक्स खा सकते है। इसमें Fiber प्रचूर मात्रा में होता है जो Digestive System के लिए बहुत Beneficial है। 

• जो Regularly से अंजीर खाते है उनको स्तन Cancer या पेट के कैंसर का खतरा कम रहता है। 

यह भी पढ़ें:

• गर्म पानी पीने के फायदे

• इसके बीज में Mucin होता है जो पेट में से सभी Toxin और गंदगी को बाहर निकाल देता है। 

• इसमें Potassium, Calcium and Magnesium होता है होता है जो अस्थियों के लिए फायदेमंद होता है। इससे अस्थियों मजबूत होती है। जो अंजीर खाते है उनके अन्दर Calcium कम नही होता है और उनकी हड्डियों के टूटने का खतरा कम होता है। 

• इसमें मौजूद Fiber, ओमेगा-3 और 6 फैटी एसिड Cholesterol बढने नही देता। 

• जो Animic है यानी जिसमे आयरन की कमी है उन्हें अंजीर खाना चाहिए। इसे Regular सेवन से Hemoglobin का लेवल बढ़ जाता है। 

• अंजीर या इसके पत्ते दोनों का सेवन करने से Blood sugar control में रहता है।


• अगर अंजीर में शहद और मेथी दाना पाउडर डालकर खाया जाए तो Asthma ठीक हो जाता है। 

• अंजीर में मौजूद Potassium, ओमेगा ३ और ६ फैटी Acid and fiber high blood pressure को Control करने में help करता है।

• इसके सेवन से Immunity system स्ट्रोंग हो जाता है और बीमारी से बचे रहते है। 

• इसमें Iron, zinc, calcium and potassium सेवन से यौन शक्ति बढ़ जाती है। इससे Fertility भी बढ़ जाती है। 

• कुछ लोगो का मानना है अंजीर खाने से बांझपन यानी Infertility भी ठीक हो जाता है।

• जिनका भागदौड़ का काम है उन्हें अंजीर खाना चाहिए। अंजीर से body को ताकत मिलती है। कमजोर लोगो को अंजीर daily खाना चाहिए। 


अंजीर खाने से होने वाले नुकसान  (Disadvantages of eating figs in hindi)

• यदि अंजीर का सेवन अधिक किया जाएं तो दांत ख़राब हो सकते है

• इसे अधिक ज्यादा खाने से वजन भी बढ़ सकता है।

• इसकी तासीर गरम होती है अंजीर ज्यादा खाने से नुक्सान हो सकता है। 

• इसकी तासीर गरम होती है। इसलिए ज्यादा खाने से नाक से Blood आने की सम्भावना होती है। 

• ज्यादा खा लेने से कभी कभी पेट में दर्द की समस्या भी हो सकता है।

• ज्यादा खाने से दस्त हो सकते है।

• Sugar के मरीज और किसी Allergies के मरीज इसे खाने से पहले doctor से सलाह लेना चाहिए।


नोट: हम आपसे विशेष आग्रह करते हैं कि अपने अंजीर के फायदे और नुकसान दोनों ही पढ़ें इसे खाने या नियमित सेवन से या अपनी भोजन में शामिल करने से पहले एक बारे आने डॉक्टर या हेल्थ एक्सपोर्ट से सलाह अवश्य लें जिससे की इससे होने वाले नुकसान या साइड इफेक्ट्स से बचा जा सके।

• गर्म पानी पीने के फायदे

आपने यह लेख पढ़ा आपको कैसा लगा हम कमेंट करके अवश्य बताए। और ऐसे ही अन्य लेख के लिए मुख्य पृष्ठ पर जाएं या संबंधित लेख पढ़ें।