अव्ययीभाव समास | उदाहरण सहित | avyayibhav samas

अव्ययीभाव समास | उदाहरण सहित | avyayibhav samas

अव्ययीभाव समास | उदाहरण सहित | avyayibhav samas

avyayibhav samas kise kahate hain: वह समास जिसका पहला पद अव्यय हो एवं उसके संयोग से समस्तपद भी अव्यय बन जाए, उसे अव्ययीभाव समास कहेंगे! अव्ययीभाव समास में पूर्वपद प्रधान होता है।


अव्यय — जिन शब्दों पर लिंग , कारक , काल आदि शब्दों से भी कोई प्रभाव न हो, जो अपरिवर्तित रहें वे शब्द अव्यय कहलाते हैं। 


अव्ययीभाव समास के पहले पद में अनु, आ, प्रति, यथा, भर, हर जैसे शब्द आते हैं। 

जैसे

अव्ययीभाव समास के उदाहरण


समस्तपद — विग्रह

  • यथारूप  ≈  रूप के अनुसार
  • यथायोग्य  ≈  जितना योग्य हो
  • घर ≈ घर  ≈  हर घर/प्रत्येक घर
  • यथाशीघ्र  ≈  जितना शीघ्र हो
  • श्रद्धापूर्वक  ≈  श्रद्धा के साथ
  • अनुरूप  ≈  जैसा रूप है वैसा
  • अकारण  ≈  बिना कारण के
  • हाथोँ हाथ  ≈  हाथ ही हाथ मेँ
  • निरन्ध्र  ≈  रन्ध्र से रहित
  • आमरण  ≈  मरने तक
  • आजन्म  ≈  जन्म से लेकर
  • आजीवन  ≈  जीवन पर्यन्त
  • प्रतिशत  ≈  प्रत्येक शत (सौ) पर
  • भरपेट  ≈  पेट भरकर
  • यथाशक्ति  ≈  शक्ति के अनुसार
  • प्रतिक्षण  ≈  प्रत्येक क्षण
  • भरपूर  ≈  पूरा भरा हुआ
  • अत्यन्त  ≈  अन्त से अधिक
  • रातोँरात  ≈  रात ही रात मेँ
  • अनुदिन  ≈  दिन पर दिन
  • प्रत्यक्ष  ≈  अक्षि (आँखोँ) के सामने
  • दिनोँदिन  ≈  दिन पर दिन
  • सार्थक  ≈  अर्थ सहित
  • सप्रसंग  ≈  प्रसंग के साथ
  • प्रत्युत्तर  ≈  उत्तर के बदले उत्तर
  • यथार्थ  ≈  अर्थ के अनुसार
  • आकंठ  ≈  कंठ तक
  • नीरव  ≈  रव (ध्वनि) रहित
  • बेवजह  ≈  बिना वजह के
  • प्रतिबिँब  ≈  बिँब का बिँब
  • दानार्थ  ≈  दान के लिए
  • उपकूल  ≈  कूल के समीप की
  • क्रमानुसार  ≈  क्रम के अनुसार
  • कर्मानुसार  ≈  कर्म के अनुसार
  • बेधड़क  ≈  बिना धड़क के
  • प्रतिपल  ≈  हर पल
  • नीरोग  ≈  रोग रहित
  • यथाक्रम  ≈  जैसा क्रम है
  • साफ ≈ साफ  ≈  बिल्कुल स्पष्ट
  • यथेच्छ  ≈  इच्छा के अनुसार
  • प्रतिवर्ष  ≈  प्रत्येक वर्ष
  • निर्विरोध  ≈  बिना विरोध के
  • यावज्जीवन  ≈  जब तक जीवन रहे
  • प्रतिहिँसा  ≈  हिँसा के बदले हिँसा
  • बीचोँ ≈ बीच  ≈  बीच के बीच मेँ
  • कुशलतापूर्वक  ≈  कुशलता के साथ
  • प्रतिनियुक्ति  ≈  नियमित नियुक्ति के बदले नियुक्ति
  • एकाएक  ≈  एक के बाद एक
  • अंतर्व्यथा  ≈  मन के अंदर की व्यथा
  • यथासंभव  ≈  जहाँ तक संभव हो
  • यथावत्  ≈  जैसा था, वैसा ही
  • यथास्थान  ≈  जो स्थान निर्धारित है
  • प्रत्युपकार  ≈  उपकार के बदले किया जाने वाला उपकार
  • मंद ≈ मंद  ≈  मंद के बाद मंद, बहुत ही मंद
  • प्रतिलिपि  ≈  लिपि के समकक्ष लिपि
  • चेहरे ≈ चेहरे  ≈  हर चेहरे पर
  • प्रतिदिन  ≈  हर दिन
  • प्रतिक्षण  ≈  हर क्षण
  • सशक्त  ≈  शक्ति के साथ
  • दिनभर  ≈  पूरे दिन
  • निडर  ≈  बिना डर के
  • भरसक  ≈  शक्ति भर
  • सानंद  ≈  आनंद सहित
  • प्रत्याशा  ≈  आशा के बदले आशा
  • प्रतिक्रिया  ≈  क्रिया से प्रेरित क्रिया
  • सकुशल  ≈  कुशलता के साथ
  • प्रतिध्वनि  ≈  ध्वनि की ध्वनि
  • सपरिवार  ≈  परिवार के साथ
  • दरअसल  ≈  असल मेँ
  • अनजाने  ≈  जाने बिना
  • अनुवंश  ≈  वंश के अनुकूल
  • पल ≈ पल  ≈  प्रत्येक पल
  • व्यर्थ  ≈  बिना अर्थ के
  • यथामति  ≈  मति के अनुसार
  • निर्विकार  ≈  बिना विकार के
  • अतिवृष्टि  ≈  वृष्टि की अति
  • नीरंध्र  ≈  रंध्र रहित
  • यथासमय  ≈  जो समय निर्धारित है
  • घड़ी ≈ घड़ी  ≈  घड़ी के बाद घड़ी
  • अत्युत्तम  ≈  उत्तम से अधिक
  • अनुसार  ≈  जैसा सार है वैसा
  • निर्विवाद  ≈  बिना विवाद के
  • यथेष्ट  ≈  जितना चाहिए उतना
  • अनुकरण  ≈  करण के अनुसार करना
  • अनुसरण  ≈  सरण के बाद सरण (जाना)
  • यथाविधि  ≈  जैसी विधि निर्धारित है
  • प्रतिघात  ≈  घात के बदले घात
  • अनुदान  ≈  दान की तरह दान
  • अनुगमन  ≈  गमन के पीछे गमन
  • प्रत्यारोप  ≈  आरोप के बदले आरोप
  • अभूतपूर्व  ≈  जो पूर्व मेँ नहीँ हुआ
  • आपादमस्तक  ≈  पाद (पाँव) से लेकर मस्तक तक
  • अत्याधुनिक  ≈  आधुनिक से भी आधुनिक
  • निरामिष  ≈  बिना आमिष (माँस) के
  • घर ≈ घर  ≈  घर ही घर
  • बेखटके  ≈  बिना खटके
  • यथासामर्थ्य  ≈  सामर्थ्य के अनुसार

ये भी पढ़ें:

      समास के भेद | प्रकार 

                      1. तत्पुरुष समास,

                      2. कर्मधारय समास,

                      3. द्विगु समास,

                      4. द्वंद्व समास,

                      5. बहुव्रीहि समास,

                      6. अव्ययीभाव समास,


लेख अच्छा लगे तो शेयर एवम् कमेंट अवश्य करें।