उपन्यास और कहानी में अंतर बताइए - कहानी और उपन्यास किसे कहते हैं? क्या है? बताइए

उपन्यास और कहानी किसे कहते हैं क्या है में अंतर बताइए [Kahani Aur Upanyas me Antar in hindi]


Tell the Difference between what is a Novel and a Story in hindi
उपन्यास और कहानी किसे कहते हैं क्या है में अंतर बताइए
उपन्यास और कहानी में अंतर


आज का यह लेख मुख्य रूप से उपन्यास और कहानी से संबंधित लेख लेकर आया जिसमें उपन्यास और कहानी किसे कहते हैं. क्या है. में अंतर बताइए. की सभी जानकारी सम्मिलित है.

उपन्यास किसे कहते हैं? क्या है? 


उपन्यास शब्द 1] उप नाम के उपसर्ग एवं 2] न्यास पद से मिलकर बना है। इसमें की उप का अर्थ समीप एवं न्याय का अर्थ रखना स्थापित रखना या निकट रखी हुई वस्तु है। यानी की वह वस्तु अथवा कृति जिसको पढ़कर पाठक को ऐसा लगे कि यह उसी की है, उसी के जीवन की कथा, उसी की भाषा मे कही गई हैं। उपन्यास मानव जीवन की काल्पनिक कथा हैं। 

प्रेमचंद के अनुसार "मैं उपन्यास को मानव जीवन का चित्रमात्र समझता हूँ। मानव चरित्र पर प्रकाश डालना एवं उसके रहस्यों को खोलना ही उपन्यास का मूल तत्व है।"

कहानी किसे कहते हैं? क्या है?

कहानी, हिन्दी में गद्य लेखन की एक विधा है। 19वीं सदी में गद्य में एक नई विधा का विकास हुआ, जिसे कहानी के नाम से जाना गया। बंगला में इसे गल्प कहा जाता हैं। कहानी ने अंग्रेजी से हिंदी तक की यात्रा बंगला के माध्यम से की। मनुष्य के जन्म के साथ ही साथ कहानी का भी जन्म हुआ एवं कहानी कहना तथा सुनना मानव का आदिम स्वभाव बन गया। इसी कारण से प्रत्येक सभ्य एवं असभ्य समाज में कहानियाँ पाई जाती हैं। हमारे देश में कहानियों की बड़ी लंबी एवं सम्पन्न परंपरा रही है।

कहानी की परिभाषा: [Kahani Definition In Hindi]

कहानी: एक रचना है, जिसमें जीवन के किसी एक अंग अथवा किसी एक मनोभाव को प्रदर्शित करना ही लेखक का उद्देश्य रहता है; उसके चरित्र , शैली , कथा विन्यास , सब उसी एक भाव को पुष्ट करते हैं।

उपन्यास और कहानी में अंतर बताइए [ Kahani Aur Upanyas me Antar]

इन दोनों में कुछ मुख्य अंतर है जो कि मैंने नीचे अच्छे से क्रमिक रूप में बताया गया है।

1] ये दोनों कथा साहित्य के अलग अलग अंग होते हुए भी अपने आप में वैविध्य रखते हैं दोनों का भिन्न भिन्न अस्तित्व है।
2] कहानी को उपन्यास का लघु रुप नहीं कहा जा सकता, इसमें अनेक अंतर है। उपन्यास कहानी की अपेक्षा अधिक विस्तृत होता है।
3] उपन्यास, कहानी की अपेक्षा अधिक विस्तृत होता है।
4] उपन्यास का वर्ण्य क्षेत्र विस्तृत होता है और कहानी का संकुचित।
5] कहानी केवल इतनी बड़ी हो सकती है, की एक बैठक में समाप्त हो जाए, किन्तु उपन्यास के साथ कोई ऐसा प्रतिबंध नहीं है।


6] उपन्यास में समग्र जीवन का व्यापक एवं विसर्ग चित्र उपस्थित रहता है, जबकि कहानी में जीवन की एक झलक मात्र।
7] इसमें कथानक भी हो सकता है और नहीं भी, केवल एक भाव वह एक विचार अथवा मात्र वातावरण का वर्णन भी हो सकता है। 
8] उपन्यास में आधिकारिक कथा के साथ अनेक प्रासंगिक गोण घटनाएं और प्रसंग जुड़ते रहते हैं लेकिन कहानी में प्रासंगिक वर्णों हेतु अवकाश नहीं रहता।



आज का यह लेख आपको कैसा लगा जिसमे उपन्यास और कहानी में अंतर बताइए. अब आप कमेंट करे और अपने दोस्तों को शेयर करें। अन्य संबंधित लेख भी पढ़ें या मुख्य पृष्ठ पर जाएं।

Comments