नमक

नमस्कार दोस्तों कैसे ही आप आज हम नमक के बारे में, इसका रासायनिक नाम, भौतिक गुण, यह कैसा होता है, अवस्था एवं अन्य सभी तरह को जानकारी नीचे लेख में जानेंगे। आप हमारी वेबसाइट को सब्सक्राइब कर सकते हैं, जिससे आपको आने वाले नमक जैसे अन्य नए आर्टिकल्स की जानकारी आपको डायरेक्ट पर चल सकें। 

साधारण नमक

नमक (Common Salt) से मुख्यत: भोजन में उपयुक्त होने वाले नमक (Salt) का बोध होता है। हम आपको बता दे की यदि रासायनिक दृष्टि के तहत सोडियम क्लोराइड (NaCl) के नाम से जाना जाता है जिसका छोटा क्रिस्टल घनाकार रूपी एवम् पारदर्शी होता है।
नमक रासायनिक नाम, भौतिक गुण, यह कैसा होता है, अवस्था एवं अन्य सभी...
शुद्ध नमक की यदि बात की जाए तो यह रंगहीन होता है, लेकिन लोहमय अपद्रव्यों के कारण इसका रंग पीला या फिर भी कभी लाल हो जाता है। समुद्र के खारापन का प्रबल कारण Sodium chloride (नमक) ही होती है, क्योंकि इसकी उपस्थिति समंदर के पानी में होती है।

आज विश्व भर में नमक की प्रतिदिन की दिनचर्या में 9 से 12g प्रतिव्यक्ति उपयोग किया जा रहा है, जबकि World Health Organization (WHO)  के तहत ये एक चाय के चम्मच यानी की 5-6g होना चाहिए। अभी अभी के कुछ पहलू से पता चला है कि इसकी आहार मात्रा प्रति दिन 2-3g ही होनी चाहिए। 

नमक के भौतिक गुण

Physical properties of salt in hindi
शुद्ध नमक रंगहीन होता है।
• लोहमय अपद्रव्यों के कारण कभी कभी रंग पीला या लाल हो जाता है।
• गर्म पानी में इसकी विलेयता कुछ बढ़ जाती है।
• नमक का आपेक्षिक घनत्व 2.16, 
• नमक का द्रवणांक 804°C होता है।
• इसकी कठोरता 2.5 होती है।  
नमक का अपवर्तनांक 10.542
• सोडियम क्लोराइड (नमक) ठंडे जल में सुगमता से घुल जाता हैं।
• हिम या बर्फ के साथ नमक को मिला देने से मिश्रण का ताप -21°C तक नीचे गिर सकता हैं।

नमक के उपयोग

Uses of salt in hindi
नमक का इस्तेमाल भोज्य पदार्थों में किया जाता है। एवं कई सारी बीमारियों में भी इसका उपयोग किया जाता है।

 समापन
आज के इस लेख में आपने जाना नमक के बारे में, इसका रासायनिक नाम, भौतिक गुण, यह कैसा होता है, अवस्था एवं अन्य सभी तरह को जानकारी आपके लेख से पढ़ी आपको लेख कैसा लगा हमें कमेंट करके बताएं। इससे रिलेटेड आर्टिकल्स नीचे दिए है उन्हे भी पढ़ें।
 

Comments

Post a Comment