त्वरण, वेग और चाल – Tvaran, Veg Our Chal

त्वरण, वेग और चाल (Acceleration, Velocity And Speed in Hindi)

वेग, त्वरण और चाल तीनों की ही एक साथ इस लेख के अंदर समाहित करते हुए, इनकी सरलतम परिभाषा और ये किसे कहते हैं क्या हैं से संबंधित लेख के माध्यम से आपके समक्ष प्रस्तुत किया है
अब अयिए पहले त्वरण, दूसरे नंबर पर वेग और फिर चाल को क्रमशः समझते हैं

त्वरण (Acceleration) किसे कहते हैं?

किसी वस्तु के वेग मे परिवर्तन की दर को ही त्वरण या (Acceleration) कहते हैं।

या 

किसी वस्तु विशेष द्वारा बदला गया वेग, त्वरण (Acceleration) कहलाता है।

त्वरण मात्रक मीटर प्रति सेकेण्ड² होता है और यह एक सदिश राशि हैं।

वेग (Velocity) किसे कहते हैं?

किसी वस्तु के स्थिति बदलने की दर को ही वेग कहते हैं।
भौतिकी विज्ञान में वेग का अर्थ किसी दिशा में चाल होता है ।

एक वस्तु का वेग भिन्न भिन्न दिशाओं में भिन्न—भिन्न हो सकता है।

चाल यदि दिशा के साथ लिखी जाए तो वो वेग के समतुल्य ही होती है, उदाहरण के लिए 50 किमी/घण्टा उत्तर की तरफ । वेग गतिकी का एक मुख्य भाग है, जो यांत्रिकी की एक शाखा के अन्तर्गत आता है जिसमे वस्तुओ के गति का अध्ययन किया जाता है।

यह एक सदिश राशि हैं।
वेग एक सदिश भौतिक मात्रा होता हैं।


चाल (Speed) किसे कहते हैं?

प्रतिदिन के जीवन में एवं शुद्ध गतिकी में किसी वस्तु की चाल इसके वेग (यानी इसकी  स्थिति में परिवर्तन की दर) का परिमाण है।

चाल एक अदिश राशि है। 

किसी वस्तु की औसत चाल उस वस्तु द्वारा चली गई कुल दूरी में लगने वाले समय से विभाजित करने पर प्राप्त भागफल का मान ही औसत चाल है।  

ताक्षणिक चाल , औसत चाल का परिसिमा का मान है, जिसमें समय से साथ शून्य की ओर अग्रसर हो।

तो दोस्तों मैंने इसमें आपको त्वरण, वेग और चाल को क्रमशः हिंदी में बताए जो की आपको अच्छा लगा होगा। तो अब आपसे आग्रह है कि आप इस लेख के नीचे एक कमेंट अवश्य करें अन्य लेख भी पढ़े।

Comments